धूम्रपान डायबिटीज रोगियों के लिए अधिक खतरनाक है.

क्या आप डायबिटीज से पीड़ित हैं? क्या आप धूम्रपान करते हैं? क्या आपके आसपास के लोग धूम्रपान करते हैं? हम सभी जानते हैं कि धूम्रपान कैंसर का एक सीधा कारण है. लेकिन अगर आपको मधुमेह है और आप धूम्रपान करते हैं – जिसमें निष्क्रिय धूम्रपान भी शामिल है – तो आपको अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है.

वो सात कारण जिसकी वजह से धूम्रपान करना मधुमेह रोगियों के लिए बहुत बुरा विचार है.

  1. अगर आपको डायबिटीज है और आप धुम्रपान करते हैं तो आपको तंत्रिका क्षति (न्यूरोपैथी) होने की अधिक संभावना है. ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि धूम्रपान आपके रक्त परिसंचरण को प्रभावित करता है. और बदले में आपकी तंत्रिकाओं तक वैसे पोषक तत्व नहीं पहुँच पाते जिनकी उन्हें ज़रूरत होती है. यदि यह घटना आपके पैरों की तंत्रिकाओं के साथ होता है, तो यह घावों और संक्रमणों को जन्म दे सकता है. और अगर इसका ठीक से उपचार नहीं किया जाता है, तो रोगियों को अंग विच्छेदन के कष्ट से भी गुजरना पड़ सकता है.
  2. धुम्रपान करनेवाले डायबिटीज के मरीज़ के साथ एक बढ़ा हुआ जोखिम जुड़ जाता है, जिसे आप वास्तव में दोगुना जोखिम कह सकते हैं. आपके जोड़ों (जॉइंट्स) की गतिशीलता सिमित हो सकती है. झुकने की कोशिश करना, सीढ़ियों पर चढ़ने या जब आपके जोड़ों में दर्द हो तो कुछ उठाना वास्तव में बहुत दर्दनाक होता है. फिर इन चीज़ों को करने में मधुमेह रोगियों को कोई मज़ा नहीं आता है.
  3. डायबिटीज से पीड़ित मरीज़ अगर अत्यधिक धूम्रपान करे तो गुर्दा (किडनी) की बीमारी विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है.
  4. जब कोई धुम्रपान करता है तो उसका ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है. और जब आप अपने ब्लड प्रेशर को बढ़ाते हैं तो रक्तचाप में वृद्धि से हृदय रोग का वास्तविक खतरा पैदा होता है.
  5. अनुसंधानों से पता चलता है कि डायबिटीज से पीड़ित मरीज़ अगर धुम्रपान करना बंद न करे तो हृदयरोग से मृत्यु होने का जोखिम तीन गुना बढ़ जाता है.
  6. धूम्रपान करने से रक्त शर्करा के स्तर में वृद्धि होती है. इससे आपके मधुमेह को नियंत्रित करना और अधिक मुश्किल हो जाता है, क्योंकि आपके ग्लूकोज के स्तर में नाटकीय रूप बदलाव होते हैं. यह, बदले में, आपको अन्य समस्याओं की ओर ले जाता है.
  7. धुम्रपान करने से आपके कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी बढ़ जाता है, जिससे दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है.

वास्तव में धूम्रपान और निष्क्रिय धूम्रपान मधुमेह प्रबंधन के हर पहलू पर गंभीरता से हानिकारक प्रभाव डालता है.

इसलिये नीचे लिखी बातों को सदा याद रखें:

  • एचबीए1सी – 3 महीने की अवधि के दौरान आपके रक्त में ग्लूकोज की माप.
  • आपका रक्तचाप- आपका रक्तचाप 130/80 के नीचे होना चाहिए.
  • आपके कोलेस्ट्रॉल का स्तर: कोलेस्ट्रॉल के स्तर में एलडीएल, एचडीएल और ट्राइग्लिसराइड्स शामिल हैं. आपका एलडीएल 100 से नीचे होना चाहिए. एचडीएल स्तर 40 (पुरुषों के लिए) और 50 से ऊपर (महिलाओं के लिए) होना चाहिए. ट्राइग्लिसराइड्स 150 से नीचे होनी चाहिए.

और, ज़ाहिर है, आपको यह बात नहीं भूलनी चाहिये कि डायबिटीज से पीड़ित मरीजों में कैंसर का सिद्ध जोखिम है! प्राकृतिक रूप से डायबिटीज को नियंत्रण में रखने के लिए अभी डाउनलोड करें: डायबिटीज का मेटाबोलिक डाइट चार्ट.

डायबिटीज के बारे में विशेषज्ञों की राय लेने के लिए क्लिक करें: DIABETES SUPPORT – INDIA

आपकी क्या राय है? लिखने में संकोच न करें.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Shopping cart

×