व्यायाम मधुमेह रोगियों की सात मदद करता है.

व्यायाम करने से बहुत अधिक लाभ मिलते हैं, लेकिन इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि इससे आपके ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करना आसान हो जाता है. शारीरिक कसरत आपके ब्लड में शुगर को कम कर सकता है. जब आप कसरत करते हैं तो आपके मसल्स इंसुलिन के बिना ग्लूकोज का उपयोग कर सकते हैं.

दूसरे शब्दों में, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आप इंसुलिन प्रतिरोधी हैं या आपके पास पर्याप्त इंसुलिन न हो: जब आप शारीरिक कसरत करते हैं, तो आपकी मांसपेशियों को वह ग्लूकोज मिल जाता है जिसकी उन्हें जरुरत होती है.

और बदले में, आपके ब्लड शुगर का स्तर नीचे चला जाता है.

Sponsored

व्यायाम के द्वारा डायबिटीज को नियंत्रण में रखना
लम्बा और स्वस्थ जीवन जीने के लिए
एक महत्वपूर्ण कदम है.

  1. शारीरिक कसरत इंसुलिन संवेदनशीलता और ग्लूकोज मेटाबोलिज्म में वृद्धि करता है. टाइप-2 डायबिटीज की मुख्य समस्या इंसुलिन असंवेदनशीलता या इंसुलिन प्रतिरोध ही है. व्यायाम करने से आप यह सुधार कर सकते हैं कि आपका इंसुलिन कितना अच्छा काम करता है; यह आपके ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है.
  2. व्यायाम आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार लाता है. शारीरिक कसरत अच्छे प्रकार के कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल) को बढ़ाने और बुरे प्रकार के कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करने में मदद करता है. कसरत ट्राइग्लिसराइड का स्तर भी कम कर सकता है. यह मधुमेह रोगियों के लिए अच्छी खबर है क्योंकि मधुमेह रोगियों में हृदयरोग होने का खतरा ज्यादा होता है. मुझे खुद भी कोलेस्ट्रॉल की समस्या थी, लेकिन उचित आहार और व्यायाम तथा बिना किसी दवा के, अब मेरे कोलेस्ट्रॉल का स्तर बहुत अधिक स्वस्थ है.
  3. व्यायाम रक्तचाप को कम कर सकता है. कई मधुमेह रोगियों में हाइपरटेंशन या उच्च रक्तचाप भी होता है. कसरत करने से आपके आराम करने के दौरान का रक्तचाप और आपके मेहनत करने के दौरान का रक्तचाप (शारीरिक कसरत सहित) दोनों कम हो सकते हैं. हृदय रोग और स्ट्रोक की संभावनाओं को कम करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है. मेरी माँ भी रक्तचाप की दवा इस्तेमाल करती थी, लेकिन अब वो दवाओं के बिना रहने में सक्षम है. मजबूत आनुवांशिक घटक होने की वजह से, यह सिर्फ आहार और शारीरिक कसरत से नियंत्रित नहीं हो सकता; मेरी माँ अपने रक्तचाप को स्वस्थ श्रेणियों में बनाए रखने के लिए विशेष रूप से कई सप्लीमेंट्स की खुराक लेती है. मेरी माँ तनाव प्रबंधन और ध्यान भी करती है, लेकिन अधिकांश लोगों में रक्तचाप कम करने के लिए व्यायाम एक महत्वपूर्ण तत्व है.
  4. व्यायाम भी हृदय की दक्षता में सुधार कर सकता है, और यह हृदय को कम काम करने में मदद करता है. यह कार्डियोवास्कुलर जोखिम वाले कारकों के साथ भी मदद करता है. आप कड़ी कसरत करने में सक्षम होंगे और यह आपको कठिन नहीं लगेगा. इससे आपका दैनिक कार्य आसान हो जाएगा. बहुत से लोग शारीरिक कसरत नहीं करते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि उनके पास ऊर्जा नहीं है. उन्हें ऊर्जा प्राप्त करने के लिए व्यायाम करना होगा. आपके आराम के दौरान की हृदय गति भी कम हो सकती है.
  5. व्यायाम आपके मनोदशा में सुधार कर सकता है. मधुमेह एक तनावपूर्ण बीमारी है, कसरत करने से आपको मानसिक रूप से अच्छा महसूस करने में मदद मिल सकती है. व्यायाम अवसाद में भी सुधार कर सकता है जो मधुमेह जैसी बीमारी के साथ एक मुद्दा हो सकता है.
  6. व्यायाम वजन कम करने में नाटकीय रूप से मदद करता है, और कम वजन बनाए रखने में भी सहायता करता है. विशेष रूप से, वजन कम करने और मांसपेशियों के ऊतकों के संरक्षण में सही प्रकार और सही मात्रा में व्यायाम बहुत मदद करता है. वज़न कम करने से रक्तचाप, इंसुलिन प्रतिरोध, ग्लूकोज का स्तर और कोलेस्ट्रॉल का स्तर ठीक हो जाता है. और यह सारे काम अकेले व्यायाम करता है.
  7. व्यायाम मधुमेह की जटिलताओं को कम करने में मदद करता है. आपके ब्लड शुगर का बेहतर नियंत्रण मधुमेह की गंभीर जटिलताओं को रोकने में मदद करता है, जिसमें अंधापन, न्यूरोपैथी और किडनी फेलियर शामिल है.

डायबिटीज जब हद से गुजर जाये तो आपको यह आर्टिकल पढना चाहिए: डायबिटीज का सबसे सफल प्राकृतिक उपचार.

One thought on “व्यायाम मधुमेह रोगियों की सात मदद करता है”

आपकी क्या राय है? लिखने में संकोच न करें.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.