एक डाइट चार्ट जो आपकी जिन्दगी बदल दे

एक डाइट चार्ट जो आपकी जिन्दगी बदल दे

किसी भी डाइट चार्ट से सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने के लिए, आपको एक व्यक्तिगत डाइट (आहार) की आवश्यकता होती है जिसे आप आसानी से फॉलो कर सकें.

मन में बहुत सारे उद्देश्य के साथ बहुत सारे कारणों के लिए लोग किसी खास आहार का पालन करते हैं. कोई बात नहीं. जो आपके लक्ष्य हैं, उन्हें प्राप्त करने के लिए सबसे प्रभावी आहार एक निजीकृत डाइट चार्ट है. जो आपको सूट करता है, वह डाइट चार्ट व्यक्तिगत तौर पर आपकी ज़रूरत है, चाहे आप अपने स्वास्थ्य में सुधार करना चाहते हों, या अपना वजन कम करना चाहते हों.

एक बार जब आप अपने आहार में बेहतर तरीके से बदलाव करने का निर्णय ले लेंगे तो अगला कदम एक विशेषज्ञ से सलाह लेना है. आपको व्यक्तिगत रूप से सूट करने के लिए आपके स्थानीय व्यायामशाला या फिटनेस सेंटर में भी असंख्य फिटनेस और आहार योजनाएँ उपलब्ध हैं. वहां आम तौर पर कोई ऐसा व्यक्ति होता है जिससे आप बात कर सकते हैं और पता लगा सकते हैं कि आपके लिए सबसे अच्छा आहार क्या है. वैकल्पिक रूप से आप प्रमुख फिटनेस कंपनियों द्वारा पेश किए गए कई फिटनेस कार्यक्रमों में से एक में शामिल हो सकते हैं.

हर ख्वाहिश के अनुरूप एक फिटनेस कार्यक्रम है! Click To Tweet

प्रत्येक व्यक्ति का शरीर अलग तरह का होता है. अलग-अलग भोजन और फिटनेस कार्यक्रम लोगों को दूसरों की तुलना में अलग तरीके से प्रभावित करते हैं. कुछ लोगों को एक डाइट चार्ट से वजन घटाने में सफलता मिलती है, तो दूसरी तरफ कुछ लोगों का वजन उसी डाइट चार्ट के सेवन के बाद बढ़ जाता है. इसलिए यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि आप जिस आहार पर हैं वह आपके शरीर के लिए ठीक है.

अधिकांश आहार कार्यक्रम विशिष्ट स्वास्थ्य समस्याओं वाले लोगों के लिए डिज़ाइन किए गए हैं यदि आपको लगता है कि आप अपने निर्धारित आहार को एक स्वास्थ्य समस्या के अनुरूप बदल रहे हैं तो सलाह के लिए पहले अपने डॉक्टर से संपर्क करना आवश्यक है. वे आपको सलाह दे सकते हैं कि आपकी बीमारी के साथ भोजन में खाने के लिए सबसे अच्छा क्या है और किन चीज़ों को खाने से आपको बचना चाहिए.

डाइट चार्ट से सर्वोत्तम परिणाम कैसे प्राप्त करें?

बेशक आपके डॉक्टर आपके स्वास्थ्य के बारे में पर्याप्त जानकारी रखते हैं. वे सबसे प्रभावी आहार पर निर्णय लेने में आपकी मदद करने के लिए एक उत्कृष्ट स्थिति में हैं, जो आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है. वे आपके द्वारा पालन किये जा रहे आहार के साथ किसी भी संभावित समस्याओं को भी खोज पाएंगे. या आप जिन समस्याओं पर विचार कर रहे हैं उन्हें पहचानने में आपकी काफी मदद कर सकते हैं. उदाहरण के लिए यदि आप रक्त के थक्कों को रोकने के लिए दवा का सेवन कर रहे हैं तो आपको हरी सब्जियाँ (विशेष रूप से पालक) नहीं खाना चाहिए. आपके डॉक्टर इस तरह के मुद्दों पर बात करेंगे और इन चीज़ों के बारे में आपको बताएंगे.

मानक आहार के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि वे सिर्फ यही हैं – मानक आहार. वे हर किसी को कुछ हद तक सूट करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं, लेकिन संभवतः उनका आपके ऊपर औसत प्रभाव होगा. ये आहार आपके लिए तैयार नहीं हैं. आपका शरीर, निर्माण, फिटनेस स्तर, स्वास्थ्य या संभावित स्वास्थ्य समस्याओं के लिए इसे डिजाईन नहीं किया गया है. एक अच्छा भोजन वह है जिसे आप अपना बना सकते हैं. एक आहार जिसे आप अपनेआप को सूट करने के लिए डिजाईन करके निजीकृत कर सकें.

एक और समस्या यह है कि आप जहां रहते हैं, उसके आधार पर, कुछ आहार आपको एक विशेष भोजन खाने के लिए कह सकते हैं जिसे उस जगह पर उपलब्ध कर पाना मुश्किल या असंभव है. हो सकता है कि आपको उन खाद्य पदार्थों को खाने की आवश्यकता हो जो सीजन से बाहर हैं या दूसरों की तुलना में आपके स्थान पर खरीदने के लिए अधिक महंगे हैं. यदि यह मामला है, तो आपको उन खाद्य पदार्थों को शामिल करने के लिए अपना आहार बदलना चाहिए. अर्थात आपको अपने स्थान पर स्थानीय खाद्य पदार्थ जो आसानी से आते हैं, लेकिन यह आपके आहार में भी काम करता है, वैसे खाद्य पदार्थों का चुनाव करके अपने डाइट को निजीकृत कर लेना चाहिए.

बेशक सिर्फ एक हफ्ते बाद यह खोजने के लिए कि आप इसका पालन जारी रखने की क्षमता नहीं रखते, महान दृढ़ संकल्प के साथ एक नए डाइट चार्ट का पालन करना शुरू करने में थोड़ा सा मुद्दा है. महत्वपूर्ण यह है कि जब संभव हो तो आप अपने आहार में अपनेआप को ढाल लें. धीरे-धीरे अपना नया व्यक्तिगत आहार अपनाने के दौरान अपने पुराने आहार का पालन करना बंद कर दें. इस तरह आप इसके साथ रहना सीख जायेंगे और अपने नए आहार से सर्वोत्तम परिणाम प्राप्त करने में सक्षम होंगे. ऐसे आहार से बचें, जिसकी वजह से आपको अपने भोजन की आदतों को अचानक बदलना पड़ता है, उदाहरण के लिए आपको अपने पसंदीदा भोजन को खाने से खुद को रोकना पड़ता है. इस तरह के परिवर्तनों से आपके पसंदीदा भोजन के प्रति आपका प्रलोभन बढेगा और आप अपने आहार पर टिके नहीं रह पायेंगे. इस तरह के डाइट चार्ट का आप लम्बे समय तक पालन नहीं कर पायेंगे. फिर आपके स्वास्थ्य या वजन पर किसी भी अर्थपूर्ण प्रभाव के लिए इस तरह का आहार फायदेमंद नहीं रह जाएगा.

यदि आपके आहार का एक उद्देश्य है – जैसे वजन कम करना या अपना रक्तचाप कम करना, तो आपको एक प्रगति चार्ट बनाने पर विचार करना चाहिए. इस तरह आप चार्ट को परख सकते हैं और देख सकते हैं कि आप कितनी दूर आए हैं और आप अपने लक्ष्य के कितने करीब हैं. इस प्रकार का प्रोत्साहन आपको अपने आत्मविश्वास में बहुत जरूरी बढ़ावा देगा. और अपने नए आहार के पथ पर काम करने और अपने लक्ष्यों को हासिल करने के लिए आपका संकल्प दृढ़ हो जाएगा.

मैंने खुद लगातार तीन वर्षों तक देश-विदेश के हजारों डायबिटीज से पीड़ित मरीजों को मेटाबोलिक डाइट चार्ट का पालन करना सिखाया है. इस आहार तालिका को सप्ताह में लगातार सिर्फ दो दिन फॉलो करना पड़ता है. सप्ताह के बांकी पाँच दिन आप अपना मनचाहा भोजन जी भरकर खा सकते हैं.

जरुर पढ़ें: जड़ी-बूटियों से डायबिटीज का मेटाबोलिक उपचार

Comments

  1. Pingback: The Types of Diabetes – Type I and Type II – Diabetes

  2. Pingback: डायबिटीज को ख़त्म करने के सात प्राकृतिक उपाय

  3. Pingback: प्राकृतिक उपचार और सदियों पुरानी गुप्त चिकित्सा का सच

आपकी क्या राय है? लिखने में संकोच न करें.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.